Home Treks in Himachal Pradesh Pin Parvati Trek

Pin Parvati Trek

by Pankaj Pant
1 comment

Pin Parvati Trek

PIN PARVATI TREK

Pin Parvati Trek: पिन पार्वती ट्रैक हिमाचल में मौजूद एक खूबसूरत और प्राकर्तिक दृस्टि से सम्पूर्ण ट्रैकिंग स्थल है जो उच्च ऊंचाई पर होने के कारण साल के अधिकतर समय बर्फ से ढका हुआ रहता हैये ट्रैक कुल्लू की पार्वती वैली और स्पीति की पिन वैली को आपस में जोड़ता है जिस कारण इस ट्रैक को पिन पार्वती वैली ट्रैक कहा जाता है


यह ट्रैक दो जिलों कुल्लू व जिला लाहौल व स्पीति के अन्तर्गत आता है तथा हिमाचल में स्थित सबसे कठिन ट्रैक्स में से एक माना जाता है इस जगह पर साल भर बर्फ रहने के कारण इस ट्रैक पर जाना भी कठिन होता है यहाँ का मौसम भी हर पल बदलता रहता है जिस कारण ट्रैक में फिसलन रहती है तथा खतरा भी अधिक रहता है जिस कारण ट्रैकर्स को काफी संभल कर इस ट्रैक पर आगे को बढ़ना पड़ता है


पिन पार्वती ट्रैक(Pin Parvati Trek) भारत के साथ साथ पूरे विश्व में प्रसिद्ध है जहाँ साहसिक गतिविधियों व् भीड़भाड़ के कारण कुछ दिन शान्ति में रहने का शौक रखने वाले ट्रैकर्स हर साल हजारो की संख्या में यहाँ आते है व प्राकर्तिक सुन्दरता के साथ साहसिक गतिविधियों का भी आनंद लेते हुए शहरों की भीड़-भाड़ से दूर शांति का अनुभव करते है

इस ट्रैक की खोज करने का श्रेय सबसे पहले एक अंग्रेज सर लुइस डेन को जाता है जिन्होंने सर्वप्रथम सन 1884 को इस ट्रैक को खोज निकाला था वो स्पीति घाटी में जाने के लिए किसी अन्य वैकल्पिक रास्ते की खोज में निकले थे तब उन्हें रास्ते में जाते हुए इस जगह का पता चला था   

पिन पार्वती ट्रैक की अधिकतम ऊंचाई 5,319 मीटर अर्थात 17,457 फ़ीट(Height of Pin Parvati Trek) है तथा कुल दूरी लगभग 110 किमी के आस पास पड़ती है जिस पर आने व जाने में लगभग 10 से 12 दिन का समय लग जाता है। वही इस ट्रैक पर कई खूबसूरत पर्यटक व धार्मिक स्थल पड़ते है जिसमे मनाली, मणिकरण साहिब गुरुद्धारा, टुंडा भुज, ठाकुर कुआँ, बर्षेनी, ऑडी थाच तथा मानतलाई जैसे खूबसूरत पर्यटक व धार्मिक स्थल आते है वही केलोंग, कॉकसर, रोहतांग पास, काजा, खीर गंगा जैसे प्राकर्तिक खूबसूरती से परिपूर्ण जगहों के भी दर्शन होते है यहाँ खीर गंगा के पास पार्वती कुंड में आपको गर्म पानी का कुंड भी देखने को मिलता है जहाँ पर स्नान कर आप अपने रास्ते की सारी थकावट मिटा सकते है ये सब आपके जीवन का यादगार व कभी न भुलाने वाला अनुभव हो सकता है  

PIN-PARVATI-PASS-TREK
PIN PARVATI PASS TREK

ध्यान देने योग्य चीजे

 

Things to Remember

पिन पार्वती पास(Pin Parvati Pass) ट्रैक हिमाचल के हिमालय पर्वत श्रेणी के सबसे मुश्किल ट्रैक्स में से एक है जिस कारण इस ट्रैक पर जाने हेतु ट्रैकर्स को मानसिक एवं शारीरिक रूप से अधिक मजबूत होने की जरूरत होती है ये ट्रैक विशाल पहाड़ो, बड़े-बड़े पत्थर के बोल्डरो, नदियों, अल्पाइन के जंगलो, ग्लेशियर, उबड़-खाबड़ प्राकर्तिक चट्टानों व जंगली जानवरो के जंगलो के बीच में से होकर गुजरता है जिस कारण साधारण ट्रैकर्स का इस ट्रैक पर जाना मुश्किल होता है इस कारण ट्रैकर्स को सलाह दी जाती है की ट्रैक पर जाने से पहले पर्याप्त ट्रैंनिंग के साथ-साथ 1 या 2 ट्रैक कर लेने चाहिए जिससे इस ट्रैक पर जाने में ट्रैकर्स को मुश्किलों का सामना न करना पड़े व आसानी से ये ट्रैक पूरा कर सके

वही ट्रैक पर जाने वालो को उच्च रक्त चाप, दिल की परेशानी, अस्थमा जैसी बीमारियाँ भी नहीं होनी चाहिए अगर इनमे से कोई भी बीमारी है तो ट्रैकर्स को इस ट्रैक पर नहीं जाना चाहिये वही ट्रैक पर जाने हेतु पर्याप्त मात्रा में की गई ट्रैंनिंग के साथ आपको अपने साथ ले जाने के लिए एक प्रशिक्षित गाइड की भी आवश्यक्ता होती है जो आपको सही रास्ता दिखाने के साथ मुश्किल परिस्थितियों से निकलने में भी आपकी सहायता कर सकता है  

Things to Carry


साथ ले जाने वाली वस्तुएँ

पिन पार्वती पास पर जाने से पहले कुछ चीजों को साथ जरूर ले जाना चाहिए जो आपके लिए अति आवश्यक भी है वहाँ का मौसम प्रति घंटे के हिसाब से बदलता रहता है जिस कारण वहाँ ठण्ड भी अधिक रहती है इस कारण आपको ठण्ड व बारिश से बचाव हेतु रैनकोट, फुल स्लीव्स पतली जैकेट्स, मंकी कैप, ट्रैकिंग शूज, गर्म मोज़े, मफलर, तौलिए, धुप से बचाव हेतु अच्छे किस्म के चश्मे, कोल्ड क्रीम, लिप बाम, सनस्क्रीन लोशन, एल०ई०डी टॉर्च, गर्म पानी की बोतल, ट्रैकिंग पोल, सिरदर्द की दवाइयाँ जैसे क्रोसिन, डिस्प्रिन, कॉटन, बैंड-ऐड, मूव स्प्रे, गौज, क्रैप बैंडेज आदि चीजे है जो आपको ट्रैक पर जाते समय अपने साथ रखनी चाहिए इनकी जरूरत आपको ट्रैक पर जाते वक्त कभी भी पड़ सकती है

 

ट्रैक पर जाने से 2 या 3 दिन पहले आपको अधिक मात्रा में पानी भी पीना चाहिए जिससे आप Dehydration से बचे रह सके

PIN PARVATI PASS TREK

यात्रा कार्यक्रम

Itinerary

पहला दिन:         मनाली से बर्षेनी तथा बर्षेनी से कालगा

दूसरा दिन:         कालगा से खीरगंगा

तीसरा दिन:        खीरगंगा से टुंडा भुज

चौथा दिन:         टुंडा भुज से ठाकुर कुआँ

पांचवा दिन:        ठाकुर कुआँ से ऑडी थाच

छटवा दिन:         ऑडी थाच से मानतलाई झील

सातवां दिन:        मानतलाई झील से समिट कैंप तक

आठवा दिन:        समिट कैंप से पिन बेस /बेदु थाच

नौवा दिन:          पिन बेस से टिया

दसवां दिन:         टिया से मड ड्राइव होते हुए काज़ा

ग्यारवाँ दिन:        काज़ा से मनाली

PIN-PARVATI-PASS-TREK
PIN PARVATI PASS TREK

पिन पार्वती पास ट्रैक पर कैसे जाये


How to go to Pin Parvati Pass

पहला दिन: First Day: आपके ट्रैक का पहला दिन मनाली से शुरू होता है यह ट्रैक मनाली के बर्षेनी गांव से शुरू होता है बर्षेनी गांव चरागाह तथा खूबसूरत देवदार के पेड़ो से घिरा हुआ है जिसे देखकर आपको आनंद की अनुभूति होती है यहाँ से कालगा गांव को ट्रैक कर जाना होता है जो बर्षेनी से लगभग 1/2 घंटे का ट्रैक है कलगा में ट्रैकर्स के लिए गेस्ट हाउस बने हुए है जहाँ आप रात्रि विश्राम व भोजन आदि की व्यवस्था कर सकते है यहाँ रूककर आप मणिकरण गुरुद्धारा व वहाँ मौजूद गर्म पानी के कुंड के दर्शन कर सकते है तथा गर्म पानी के कुंड में स्नान कर अपने रास्ते की थकान मिटा सकते है

 

दूसरा दिन: Second Day: आपके दूसरे दिन की शुरुवात कालगा गांव से होती है यहाँ से आपको खीरगंगा तक जाना होता है जो लगभग 10 किमी का ट्रैक है जिसमे जाने में आपको 6 से 7 घंटे तक का समय लग जाता है यहाँ रास्ते में आपको देवदार के पेड़, हॉर्स चेस्टनट तथा अखरोट के पेड़ो का विशाल जंगल दिखाई पड़ता है वही पार्वती नदी के भी दर्शन होते है 

 

आपको पार्वती के साथ साथ ही ट्रैक करते हुए जाना होता है रास्ते में आपको कई मैग्गी पॉइंट भी मिल जायेंगे जहाँ आप नाश्ते वगैरह के लिए रुक सकते है व वहाँ की मैग्गी का आनंद ले सकते है इस पूरे ट्रैक पर आपको ऊपर की तरफ चढ़ाई करते हुए जाना पड़ता है जहाँ पर खीरगंगा दिखाई पड़ता है यहाँ पहुँचकर आपको ऐसा प्रतीत होता है मानो आप स्वर्ग में हो यहाँ मौजूद पहाड़ो के स्वच्छ पानी, हवा आपके पुरे दिन की थकान मिटा देने के लिए क़ाफी होती है

 

माना जाता है की इसी स्थान पर भगवान शिव ने 3000 साल तक तपस्या की थी खीरगंगा चारो और से पहाड़ों के बीच घिरा हुआ है यही पर आप टेंट लगा रात्रि विश्राम कर सकते है

तीसरा दिन: Third Day: आपके तीसरे दिन की शुरुवात खीर गंगा से शुरू होकर टुंडा भुज तक जाती हैA टुंडा भुज समुद्र तल से 10,935 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है जो खीर गंगा से लगभग 12 किमी की दूरी पर पड़ता है तथा वहाँ तक पहुँचने में आपको 6 से 7 घंटे तक का समय लग जाता है खीरगंगा से टुंडा भुज तक का ट्रैक अपेक्षाकृत आसान माना जाता है इस रास्ते पर आपको कई सारे पानी के जलप्रपात देखने को मिल जायेंगे वही इस ट्रैक पर आपको जंगली वनस्पतिया, पशु- पक्षियाँ तथा बर्च के पेड़ भी देखने को मिल जायेंगे खीर गंगा से टुंडा भुज तक का ट्रैक इस पूरे ट्रैक्स के सबसे खूबसूरत ट्रैक में से एक है

चौथा दिन: Fourth Day: चौथे दिन का ट्रैक टुंडा भुज से ठाकुर कुआँ के लिए जाता है जो टुंडा भुज 11 किमी की दूरी पर स्थित है और यहाँ तक पहुंचने में 6 से 7 घंटे तक का समय लग जाता है यह ट्रैक पूरे ट्रैक में सबसे खूबसूरत व दरसनीय माना जाता है टुंडा भुज पर आकर पेड़ पौधे समाप्त हो जाते है तथा इतनी ऊंचाई पर आकर ऑक्सीज़न भी कम होने लगती है जिस कारण आपको आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत होने की आवश्यकता होती है यहाँ आकर आपको अधिक पानी की जरूरत होती है नहीं तो Dehydrate होने का खतरा बना रहता है यही पर 3 बोल्डर के क्रासिंग है जिन्हे पार करके जाना होता है परन्तु ये उतने मुश्किल नहीं है आप सावधानी पूर्वक इस को पार कर सकते हैA पूरे ट्रैक में आपको कई सारे पुल भी देखने को मिलते है जिन्हे पार कर जाना होता है  

PIN-PARVATI-PASS-TREK
VILLAGE NEAR PIN PARVATI PASS TREK

पाँचवा दिन: Fifth Day: पाँचवे दिन की शुरुवात आपको ठाकुर कुआँ से करनी होती है तथा ऑडी थाच तक जाना होता है यह ट्रैक लगभग 9 किमी का होता है तथा इस पर जाने में ट्रैकर्स को 5 से 6 घंटे तक का समय लग जाता है ऑडी थाच की ऊंचाई समुद्र तल से 11,876 फ़ीट है इस ट्रैक पर जाते हुए आपको पार्वती नदी पर बने पाण्डु पुल 1 व पाण्डु पुल 2 को पार करना होता है जो विशेषकर बड़े बड़े बोल्डरो से बने हुए है 

इनमे से पाण्डु पुल 2 पाण्डु पुल 1 की अपेक्षा जाने के लिए ज्यादा आसान है पाण्डु पुल 1 में एक तरफ से फिसलन बनी रहती है जबकि दूसरे छोर से पकड़ने के लिए छोटे-छोटे कट पत्थरो पर लगे हुए है जिन्हे पकड़कर इस पुल को पार करना पड़ता है

मान्यता के अनुसार ये बोल्डर पांडवो द्धारा पार्वती नदी को पार करने हेतु रखे गए थे अंत में आप ऑडी थाच तक पहुंच सकते है यहाँ का प्रयोग मुख्यतः चरवाहे लोग किया करते है जो अपनी बकरियों को चराने हेतु यहाँ मौजूद घास के मैदानों में लेकर आते है

छटवा दिन: Sixth Day: अगले दिन की आपकी यात्रा ऑडी थाच से शुरू होकर मानताली तक जाती है जो लगभग 11 किमी की होती है जिस पर जाने में आपको 5 से 6 घंटे का समय लग जाता है मानताली की ऊंचाई समुद्र तल से लगभग 13,352 फ़ीट है यहाँ एक बेहद शांत मानताली झील स्थित है जिस पर आस पास के विशाल पर्वतो के प्रतिबिम्भ दिखाई पड़ता है जो देखने में पर्यटको को मन्त्रमुघ्द कर देता है

यह ट्रैक आखिरी कुछ मीटर को छोड़कर अपेक्षाकृत आसान है मानताली झील से कुछ पहले ही भगवान शिव का एक शिवलिंग बना हुआ है जो इतनी ऊंचाई पर होने के कारण पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है यह स्थान मिनी मनाली तथा पार्वती नदी के निकलने का मुख्य बिन्दु भी माना जाता है इस जगह पर आप अपने टेंट वगैरह लगाकर रात्रि भोजन व विश्राम कर सकते है

सातवां दिवस: Seventh Day: आपके सातवे दिन की शुरुवात मानताली से शुरू होकर बेस कैंप तक जाती है यह ट्रैक लगभग 13 किमी का होता है जिस पर जाने में लगभग 6 से 7 घंटे तक का समय लग जाता है पार्वती बेस कैंप की उचाई समुद्र तल से लगभग 16,207 फ़ीट है यह ट्रैक पर आपको खड़ी चढ़ाई पर जाना होता है यहाँ से आपको विशाल ग्लेशियर की विस्तृत श्रंखला व बेहद खूबसूरत पार्वती नदी का स्पष्ट पानी देखा जा सकता है वही बीच रास्ते में आपको जल की एक बड़ी धारा देखने को मिलती है जिसे खोरनाल्ला के नाम से जाना जाता है इस धारा को बेहद ही देखभाल कर पार करना चाहिये सुबह के समय इस धारा का प्रवाह कम रहता है जिस कारण आपको सुबह के समय पर ही इसे पार कर लेना चाहिए

आठवाँ दिन: Eighth Day: आपके अगले दिन की शुरुवात बेस कैंप से शुरू होकर पिन पास पर जाकर खत्म होती है यह ट्रैक लगभग 6 किमी का है जिस पर आपको खड़ी चढ़ाई पर जाना होता है पिन पार्वती की ऊंचाई 17,388 फ़ीट है इतनी ऊंचाई पर होने के कारण वहाँ पर ऑक्सीज़न का स्तर भी कम होता जाता है इसलिए आपको अधिक पानी पीने की सलाह दी जाती है इस दिन का ट्रैक आपको जल्द सुबह शुरू कर देना चाहिए क्योकि धुप निकलने पर यहाँ गिरी हुई बर्फ पिघलने लगती है और ट्रैक पर फिसलन होने लगती है इस ट्रैक का कुछ हिस्सा ग्लेशियर के ऊपर से होकर जाता है इस कारण आपको अत्यंत सावधानी से जाने की जरूरत होती है

नौवा दिन: Ninth Day: इस दिन का ट्रैक अन्य दिन की अपेक्षा आसान माना जाता है ये ट्रैक अपने अंतिम लम्हो की और बढ़ रहा था आपको स्पीति वैली में पत्थरो और रेत के बीच से होकर जाना पड़ता है जो अन्य दिनों की अपेक्षा आसान था यह ट्रैक कुल मिलकर लगभग 10 किमी का होता है जिस पर आने में 4 से 5 घंटे तक समय लगता है विच कुरूंग इस ट्रैक का अंतिम जगह है जहाँ आप रात्रि विश्राम कर सकते है

 

दसवां दिन: Tenth Day: अंतिम दिन में आपकी यात्रा विच कुरूंग से शुरू होकर मनाली पर जाकर ख़तम होती है जहाँ आपके ट्रैक का भी समापन होता है आप मड तथा काज़ा होते हुए अपने वाहन से मनाली पहुँच सकते है काज़ा से मनाली की कुल दूरी 200 किमी पड़ती है यहाँ आकर आपका ट्रैक समाप्त होता है

PIN PARVATI PASS TREK
PIN PARVATI PASS TREK

पिन पार्वती पास ट्रैक कैसे जाये:


How to go Pin Parvati Pass

By Air: हवाई मार्ग द्धारा: पिन पार्वती पास ट्रैक पर जाने के लिए सबसे पास स्थित हवाई अड्डा भुन्तर में है जो की मनाली से 52 किमी की दूरी पर स्थित है नई दिल्ली और चंडीगढ़ से आपको कुल्लू के भुंतर के लिए आसानी से हवाई सुविधा मिल जाएगी भुन्तर हवाई अड्डे से बाहर से लगातार सरकारी बसे भी मनाली के लिए चलती रहती है तथा प्राइवेट टैक्सी वाले भी 24 घंटे आपको हवाई अड्डे के बाहर ही खड़े मिल जायेंगे आप यहाँ से बस या टैक्सी कर आसानी से मनाली तक पहुंच सकते है। प्राइवेट टैक्सी वाले आपसे मनाली तक पहुंचाने के लिए अधिकतम 1000 रुपए से 1500 रुपया तक का किराया लेते है

By Bus: सड़क मार्ग द्धारा: पिन पार्वती पास ट्रैक पर जाने के लिए सबसे पास स्थित बस स्टेशन मनाली है जो देश के अधिकतर भागो से आसानी से जुड़ा हुआ है दिल्ली से मनाली की दूरी लगभग 550 किमी है दिल्ली से मनाली के लिए आपको हर समय बस की सेवा उपलब्ध हो जाएगी

 

वही चंडीगढ़ से भी आप मनाली तक आसानी से पहुंच सकते है चंडीगढ़ से मनाली की दूरी 310 किमी है जहाँ आपको पहुंचने में लगभग 8 घंटे का तक का समय लग जाता है जहाँ से आपके ट्रैक की शुरुवात होती है

पिन पार्वती पास ट्रैक पर कब जाये


When to go Pin Parvati Pass

पिन पार्वती पास ट्रैक पर जाने के लिए सबसे अच्छा मौसम अप्रैल से लेकर अक्टूबर तक का होता है उसके बाद बारिश का सीजन होने के कारण ट्रैक पर फिसलने का खतरा रहता है अप्रैल से अक्टूबर के दौरान यहाँ का मौसम अधिकतर साफ़ रहता है जिस कारण आप यहाँ प्रकर्ति का भरपूर आनंद ले सकते है

PIN-PARVATI-PASS-TREK
TREK TO PIN PARVATI PASS

Read About Pin Parvati Pass Trek

Related Posts

1 comment

Lime Green TechArt Porsche 911 Targa 4 - McLaren 650S Forum May 19, 2020 - 1:36 pm

[…] Junior Member   Join Date: Apr 2020 Posts: 4 PIn Parvati Pass Trek पिन पार्वती ट्र&#2376… पिन पार्वती […]

Reply

Leave a Comment

Uttarakhand "Where the journey starts"