Home Trekking and hill stationsTreks In Uttarakhand “Kuari Pass Trek” The Beautiful Trek for Winter Season

“Kuari Pass Trek” The Beautiful Trek for Winter Season

by Pankaj Pant
0 comment
Nanda Devi Park

Kuari Pass Trek

The Beautiful Trek for Winter Season

Nanda Devi Park
Nanda Devi Park

About Kuari Pass Trek: कुँआरी पास ट्रैक: कुँआरी पास ट्रैक उत्तराखंड में स्थित एक खूबसूरत विंटर ट्रैकिंग(Winter Trek ) स्थल है जो समुद्र तल से 12,516 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है इस ट्रैक की शुरुवात जोशीमठ के ढाका गांव होती है तथा ट्रैक को पूरा करने में आपको 5 से 6 दिन लग जाते है ढाका गांव जोशीमठ से 12 किमी की दूरी पर स्थित है

शुरुवाती 2 दिन में यह ट्रैक काफी आसान होता है आपको महसूस होगा की आप किसी पार्क में भ्रमड कर रहे है तीसरे दिन से ट्रैक थोड़ा मुश्किल हो जाता है परन्तु अन्य हिमालयी ट्रैक की अपेक्षा ये ट्रैक क़ाफी आसान है

8 साल से ऊपर की उम्र के कोई भी व्यक्ति इस ट्रैक पर आसानी से जा सकते है सर्दियों के समय यहाँ पर जम के बर्फवारी होती है तथा ट्रैक व कुँआरी दर्रे के आसपास 5 से 6 फुट तक बर्फ जम जाती है

सर्दियों के समय पर ट्रैकिंग हेतु जाने वाले ट्रैकर्स के लिए यह एक आदर्श ट्रैकिंग स्थल(Best Winter Trek in India) है इस ट्रैक पर जाने में आपको पहले ही दिन से हिमालय की बर्फीली चोटियों के दर्शन हो जाते है वही आप बर्फ से ढके हिमालय पर्वत व अन्य चोटियों की खूबसूरती को और भी करीब से देख सकते है

यहाँ से आप हिमालय के साथ-साथ नंदा देवी पर्वत, माउंट द्रोणागिरी व अन्य पर्वतो की खूबसूरती का भी आनंद ले सकते है जो इस ट्रैक की सुंदरता को और अधिक बढ़ा देते है जैसे-जैसे आप ट्रैक पर आगे को बढ़ते जाते है आपको हिमालय की अन्य खूबसूरत पर्वत श्रंखला देखने को मिलती है इसी कारण इस ट्रैक की उत्तराखण्ड ही नहीं अपितु पूरे भारत के सबसे सुन्दर सर्दियों के ट्रैकिंग स्थलों (Best Winter Trek in India) में गिनती की जाती है

इस ट्रैक पर हर साल हजारो को संख्या में ट्रैकर्स आते है साहसिक पर्यटन को पसन्द करने वालो के लिए भी ये एक आदर्श ट्रैकिंग स्थल है  

Ancient Forests during Kuari Pass Trek

खूबसूरत जंगलो व घास के मैदानों से जाता हुआ ट्रैक

ट्रैकिंग के दौरान आपको घने जंगलो के बीच से होकर जाना होता है इस ट्रैक पर ये जंगल काफी पुराने है जंगल में ज्यादातर खूबसूरत ओक(Ook) व रोडोडेंड्रोन्स (Rhododendrons) के पेड़ लगे है जो लगभग एक समान दूरी पर लगे होने के कारण काफी आकर्षित दिखाई पड़ते है जिस कारण ये जंगल काफी खूबसूरत दिखाई पड़ता है

ट्रैक के दौरान आपको कई बार जंगल से होते हुए जाना होता है व कई बार आप खुले आकाश के नीचे तथा घास के मैदान पर आ जाते है तथा बाद में पुनः जंगल से होते हुए जाना पड़ता है बार-बार जंगल व घास के मैदानों से जाने के इस कारण ये ट्रैक अपने आप में काफी अध्भुत तथा  रोमांचक दिखाई प्रतीत होता है     

JUDA-KA-TALAB

Things to Carry to go to Kuari Pass Trek

कुँआरी पास ट्रैक पर साथ ले जाने वाली वस्तुएँ

कुँआरी पास ट्रैक पर जाने से पहले कुछ चीजों को साथ जरूर ले जाना चाहिए जो आपके लिए अति आवश्यक है

वहाँ का मौसम प्रति घंटे के हिसाब से बदलता रहता है जिस कारण वहाँ ठण्ड भी अधिक रहती है ठण्ड बारिश से बचाव हेतु  रेन चीटर, फुल स्लीव्स पतली जैकेट्स, मंकी कैप, ट्रैकिंग शूज, गर्म मोज़े, मफलर, तौलिए, धुप से बचाव हेतु अच्छे किस्म के चश्मे, कोल्ड क्रीम, लिप बाम, सनस्क्रीन लोशन, लेड टॉर्च, गर्म पानी की बोतल, ट्रैकिंग पोल, सिरदर्द की दवाइयाँ जैसे क्रोसिन, डिस्प्रिन, कॉटन, बैंडऐड, मूव स्प्रे, गौज, क्रेप बैंडेज आदि चीजे है जो आपको ट्रैक पर जाते समय अपने साथ रखनी चाहिए

इनकी जरूरत आपको ट्रैक पर जाते वक्त कभी भी पड़ सकती है ट्रैक पर जाने से 2 या3 दिन पहले आपको अधिक मात्रा में पानी भी पीना चाहिए जिससे आप Dehydration से बचे रह सके (उत्तराखंड की संस्कृति के बारे में विस्तार से जानने के लिए ये पोस्ट पढ़े)

Itinerary to Kuari Pass Trek

यात्रा कार्यक्रम

कुँआरी पास ट्रैक पर जाने के लिए आप अलग अलग तीन रास्तो से जा सकते है ये तीन रास्ते निम्न है-

ट्रैक रुट 1 – घाट-रामनी-सनटोली से कुँआरी पास

ट्रैक रुट 2 – जोशीमठ-औली-गोरसों से कुँआरी पास

ट्रैक रुट 3 – जोशीमठ-मिराग-टुगसी-खुलारा से कुँआरी पास

ट्रैक रुट 4- तपोवन-खुलारा से कुँआरी पास

Kuari Pass Tek Route पर जाने का मुख्य मार्ग निम्न है:-

हरिद्वार-ऋषिकेश-श्रीनगर-जोशीमठ-चित्रकांठा-खुलारा टॉप-कुँआरी पास

·         पहला दिनहरिद्वार से जोशीमठ

·         दूसरा दिनजोशीमठ से चित्रकांठा / गुल्लिंग

·         तीसरा दिनचित्रकांठा / गुल्लिंग  से ताली टॉप/खुल्लर

·         चौथा दिनकुँआरी पास से जोशीमठ वाया गुरसों बुग्याल व औली

How to go Kuari Pass Trek

कुँआरी पास ट्रैक पर कैसे जाये

पहला दिन-हरिद्वार से जोशीमठ: Haridwar to Joshimath:

पहले दिन की शुरुवात तीर्थ नगरी हरिद्वार से शुरू होती है व आपको जोशीमठ तक पहुंचना होता है जोशीमठ की दूरी हरिद्वार से लगभग 265 किमी होती है तथा यहाँ तक पहुंचने में 6 से 7 घंटे तक का समय लग जाता है यह यात्रा आपको प्रकर्ति के नजदीक जाने का मौका देती है रास्ते में आपको खूबसूरत पर्वत तथा हरीभरी वादियां देखने को मिलती है जिसे देख आपके रास्ते की सारी थकान दूर हो जाएँगी

जोशीमठ रास्ते में स्थित रुद्रप्रयाग में आप भागीरथी व अलकनंदा नदी का संगम देखने को मिलता है वही कर्णप्रयाग में आप पिंडर व अलकनंदा नदी के संगम को भी करीब से देख सकते है जिसे देख आप रोमांचित हो जायेंगे

दूसरा दिन- जोशीमठ से चित्रकांठा / गुल्लिंग: Joshimath to Chitrakantha:  

दूसरे दिन आपकी यात्रा जोशीमठ से शुरू होती है। इस दिन आपको चित्रकांठा तक जाना होता है जिसकी कुल ऊंचाई लगभग 3,310 मीटर अथवा 10,857 फ़ीट है। इस ट्रैक पर जाने में आपको 6 से 7 घंटे तक  लग जाता है।

जोशीमठ से आप बर्फ से ढके खूबसूरत पर्वतो को देखने का आनंद ले सकते है। वही जोशीमठ में विश्व प्रसिद्ध बद्रिनाथ धाम, फूलो की घाटी व हेमकुण्ड साहिब भी है जिनके दर्शन आप कर सकते है।

वही ट्रैक के दौरान आप खूबसूरत वादियों को भी देख सकते है। यहाँ के बर्फ से ढके पर्वत व शांत आबोहवा के कारण आपको असीम आनंद की प्राप्ति होती है।

यहाँ का अंतिम गांव ढाक है जहाँ तक आप वाहन द्वारा जा सकते है। ये गांव जोशीमठ से 12 किमी की दूरी पर पड़ता है जिसकी ऊंचाई समुद्र तल से 6,790 फीट है। यहाँ से चित्रकांठा तक की दूरी 6 किमी है जिस पर आप को ट्रैकिंग कर जाना होता है। चित्रकांठा की ऊंचाई 9,700 फ़ीट है तथा यहाँ तक पहुंचने में आपको 6 से 7 घंटे तक का समय लग जाता है।

तीसरा दिन – चित्रकांठा / गुल्लिंग  से ताली टॉप / खुल्लर: Chitrakantha to Gulling Top: तीसरे दिन की शुरुवात चित्रकांठा से शुरू होती है तथा आपको ताली टॉप तक जाना होता है इस दिन का ट्रैक आपके पूरे ट्रैक में सबसे खूबसूरत होता है इस ट्रैक के दौरान आप खूबसूरत वादियों के साथसाथ विशाल जंगलो, ओक व देवदार के वृक्षों को देख सकते है

यहाँ से आप बर्फ से ढके विशाल पर्वतो जिनमे नंदा देवी, गौरी पर्वत, कलंगा तथा द्रोणागिरी पर्वतो की सुंदरता को करीब से देख सकते है यह ट्रैक कुल 4 किमी का है तथा इस ट्रैक की कुल ऊंचाई 11,070 फ़ीट है ट्रैक के दौरान आप तपोवन जाने वाले ट्रैक में जाकर मिल जाते है जहाँ आपको सुन्दर घास का मैदान देखने को मिलता है

चौथा दिन: ताली टॉप से कुँआरी पास से ताली टॉप: Tali Top to Kuari Pass to Tali Top: इस दिन का ट्रैक आपके पूरे ट्रैक के सबसे लम्बे ट्रैक में से एक होता है इस दिन आपको लगभग 15 किमी का ट्रैक करना होता है जिसमे आपको लगभग 8 से 9 घण्टे तक का समय लग जाता है। इस पूरे ट्रैक की ऊंचाई 12, 763 फ़ीट है जिस पर आपको जाना होता है।

यह ट्रैक ताली टॉप से शुरू होकर कुँआरी पास तक जाता है तथा आपको ताली टॉप पर वापस आना होता है। ट्रैक लम्बा होने के कारण आपको एनर्जी बचाकर रखने की सलाह दी जाती है। ट्रैक के दौरान आपको खड़ी पहाड़ी पर जाना होता है जिस कारण आपको सिकनेस की शिकायत हो सकती है।

ट्रैक के दौरान आपको पानी भी बहुत काम जगह उपलब्ध हो पाता है इस कारण आपको अपने पास पर्याप्त मात्रा में पानी रखने की भी सलाह दी जाती है। कुँआरी पास चोटी पहुँचकर आप वहाँ से 360 डिग्री का द्र्स्य देख सकते है। यहाँ से आपको चौखम्बा पर्वत, हाथी पर्वत, द्रोणागिरी, कॉमेंट पर्वत, मुकुट पर्वत, नंदा घुंगटी, केदारडोम तथा केदारनाथ पर्वत की बर्फ से ढकी पर्वत श्रंखला को भी करीब से देखने को मिलता है।

ताली टॉप से जोशीमठ वाया गुरसों बुग्याल वाया औली: Tali Top to Joshimath Vaya Guson Bugyal Vaya Auli: यह आपके पूरे ट्रैक का अंतिम दिन होता है जिस पर आपको ताली टॉप से वापस जोशीमठ तक आना होता है यह ट्रैक गुरसों बुग्याल व औली होता हुआ जोशीमठ तक आता है

इस दिन आप औली की खूबसूरत वादियों को भी करीब से निहार सकते है व इसे अपने कैमरे में कैद कर सकते है औली की ऊंचाई समुद्र तल से 2,500 मीटर है औली उत्तराखंड का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है जो अपने साहसिक खेलो के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है जोशीमठ पहुंच कर आप अपने गंतव्य के लिए सरकारी बस या प्राइवेट टैक्सी कर वापस जा सकते है    

Best Time to go Kuari Pass Trek

कुँआरी पास ट्रैक पर जाने का सही समय

Kuari Pass Trek Best Time:

कुँआरी पास ट्रैक एक खूबसूरत ट्रैकिंग स्थल है जो सदियों पुराने ओक, रोडोडेंड्रोन के जंगलो से होता हुआ जाता है। यहाँ की खूबसूरत को देख आप आश्चर्यचकित रह जायेंगे।

इस ट्रैक पर जाने का सही समय मार्च, अप्रैल तथा मई का रहता है। इन महीनो के दौरान आपको ऊपरी क्षेत्र में बर्फ के भी दीदार हो जायेगे। वही मानसून के बाद भी आप इस ट्रैक पर जा सकते है। इस दौरान आप वहाँ की हरीभरी वादियों के साथ साथ नंदा देवी पर्वत, द्रोणागिरी पर्वत, केदार डोम तथा केदारनाथ पर्वत की खूबसूरती को भी नजदीक से देख सकते है।

मानसून के समय पर आपको ट्रैक पर जाने से बचना चाहिए। बारिश के मौसम में यहाँ अत्यधिक  बारिश  होती  है जिस  कारण  पूरे  ट्रैक  पर  फिसलन  होने  के  कारण  यहाँ  तक पहुँचना  मुश्किल  हो  जाता है।  इसके  अतिरिक्त  आप  अन्य  महीनो में  इस ट्रैक  पर  जा  सकते  है।

(उत्तराखण्ड के अन्य ट्रैक्स के बारे में जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें)

Temperature of Kuari Pass

कुँआरी पास का तापमान

कुँआरी पास का तापमान सर्दियों के समय पर बहुत ठंडा होता है खासतौर परदिसंबर, जनवरी फरवरी को रात के समय यहाँ का तापमान 0 डिग्री से भी नीचे चला जाता है वही दिन के समय पर धूप निकलने के कारण यहाँ मौसम सामान्य रहता है

रात के समय यहाँ का तापमान 5 डिग्री से 10 डिग्री तक रहता है वही दिन के समय पर तापमान 8 डिग्री तक रहता है अन्य महीनो में भी यहाँ पर ठण्ड बनी रहती है परन्तु दिन के समय पर मौसम सामान्य रहता है सर्दियो में यहाँ पर जम के बर्फवारी होती है जिस कारण यहाँ चारो और बर्फ की चादर जैसी ढक जाती है

Map of Kuari Pass Trek

Related Posts

Leave a Comment

Uttarakhand "Where the journey starts"